मामा भांजी की सेक्सी बीएफ

Image source,मारवाड़ी मंगलसूत्र डिजाइन gold

तस्वीर का शीर्षक ,

हिन्दी सेकस कहानी: मामा भांजी की सेक्सी बीएफ, वो तो मैंने किसी को भी नहीं दी और मुझसे रश्मि ने साफ़ कहा है कि आदी को पिछवाड़ा मत देना…मैं- तो क्या हुआ.

बुड्ढे की सेक्सी वीडियो

कुछ तो बोलो!फिर मैंने उनको सारी कहानी बता दी।वो बोलीं- तुमने ये सब कब और कैसे किया?मैंने कहा- दो महीने पहले. भाभी को पटाने के तरीकेइसी तरह बाहर बरसात होती रही, अंदर मैं चुदती रही !विनायक ने सात बार मेरी अलग अलग ढंग से चुदाई की !शाम हो चुकी थी, मैं जैसे तैसे अपने फटे कुर्ते को सिल कर,दुपट्टे से खुद को ठीकठाक ढक करके वापस घर लौट गई।… पर अब अर्पित के साथ रहना संभव नहीं था.

क्या बला की खूबसूरत लग रही थी वो!उसने गुलाबी रंग की साड़ी पहनी हुई थी, उसी रंग की लिपस्टिक लगा रखी थी. एक्सएक्सएक्सवाइडकाफी बड़े चूचे और काले सलवार कमीज़ में कमाल लग रही थी। मैं उन्हें अपने स्कूल टाइम से ही पसंद करता था, जब उनके यहाँ कोचिंग जाता था, तभी से उन्हें अपना बना लेने की ख्वाहिश थी.

जब मैंने अपनी शर्ट उतार दी तो वो मुझे बेतहाशा चूमने लगी और कहने लगी- राज, मुझे प्यार करो! बहुत ज्यादा प्यार करो!फिर मैंने उसकी साड़ी निकाल दी तो वो सिर्फ ब्लाऊज़ और पेटीकोट में रह गई.मामा भांजी की सेक्सी बीएफ: नहा-धो कर तैयार हो जा, या मैं तुझे नहलाऊँ ! मैंने तुझे पहले भी यहाँ नंगी कर बहुत बार नहलाया है !’मैंने रामदीन की बातों पर ध्यान नहीं दिया और रोज की तरह तैयार हो गई।‘चाचा जो तूने कल किया, वो ठीक नहीं किया.

मैं हाँ कहने के अलावा और कहता क्या ! वैसे भी आज तो सपने पूरे हो रहे थे… तभी मैंने उनके बाल जोर से पकड़े और उन्हें अपनी तरफ खींचा उनको चूमते हुए उनके चूचे दबाये… फिर उनके जब मैंने निप्पल चूसे तो वो आह आह के अलावा कुछ नही बोल रही थी। उन्होंने मेरा सर अपनी गीली चूत की तरफ़ धकेला, मैंने अपनी जीभ से उसे चाटना चालू किया… उनकी चूत गीली थी.पुच्च पुच की लम्बी लम्बी गीली गीली आवाजों से और गीली फुद्दी की रगड़ से लण्ड का ठरक बुलंदियों पर पहुंच गया.

बुर चुदाई वीडियो में - मामा भांजी की सेक्सी बीएफ

आज इतने उतावले क्यों हो रहे हो?’‘मेरी जान, कितने दिन से तुमने दी नहीं… इतना ज़ुल्म तो ना किया करो मेरी रानी…!’‘चलिए भी, मैंने कब रोका है, आप ही को फ़ुर्सत नहीं मिलती। राजू का कल इम्तिहान है, उसे पढ़ाना ज़रूरी था।’‘अब श्रीमती जी की इज़ाज़त हो तो आपकी बुर का उद्घाटन करूँ?’‘हाय राम.गदराहट से मांसल घुटनों पर मादक बल पड़े हुए थे, बेहद पतली और पिचकी हुई कमर के नीचे मस्त गोल गोल चूतड़ और चूतड़ों में दबी फंसी कुंवारी गाण्ड में चींटियाँ सी रेंग रहीं थी.

इस लंड ने मुझे म्मअररर डाला…!’इस चीख में भी वो मधुर सी आवाज़ सुनाई दी जो कि कौमार्य के फटने की आवाज़ थी।अब मैंने लंड को पूरा घुसा लिया था और मेरी जंघाएं उसके चूतड़ से सट गई थीं, हमारी टाँगें गुंथ गईं।अब मैं भी उसकी पीठ पर लेट गया और उसके हाथ पकड़ लिए।‘धन्यवाद डार्लिंग.मामा भांजी की सेक्सी बीएफ यह सुन कर बहन नाराज़ सी हो गई और बोली- तुम तो हर रोज यही बोलते हो और हफ्ते में 2-3 दिन ही मुझे खुश करते हो.

जब मैं तेरे छोटे से छेद में अपना मोटा लौड़ा डालूँगा, तो दर्द को कुछ कम करने के लिए तेल लगाऊँगा !’‘मेरी चूत के छोटे से छेद में ! अरे तूने तो मेरे छोटे से छेद को चोद-चोद कर, क्या कहा था तूने पहली बार.

ओपन सैक्स?

मामा भांजी की सेक्सी बीएफ आआअह्ह…’और मैं भी ‘उम्म्म्मा आम्म्म्मा’ करते हुए मजे ले रहा था।मैंने देखा उनका प्यारा सा दाना काफी उठ चुका था, जैसे ही मैंने देखा उनको अपने दोनों होंठों में दबा लिया। उन्होंने जोर से बालों को पकड़ लिया और जोर से ‘आआअह्ह उउफ्फ’ करने लगी, उसको बहुत मजा आ रहा था, उसकी सिसकारियों से पता चल रहा था।फिर मैंने अपनी एक ऊँगली उनके दाने पर रखी और उसको हिलाने लगा, वो सिसकार कर बोली- उउफ्फ्फ.

हाथों से खेलने वाला गेम?सेक्स मुवी

मामा भांजी की सेक्सी बीएफ अब आप लोग सोच रहे होगें कि लैपटोप में कौन-सी रेलगाड़ी होती है, दोस्तों मैं सैक्सी फ़िल्म की बात कर रहा हूँ.

खाने वाला कपूर कैसा होता है

फिर थोड़ी देर बाद मैं अपने घर आ गई लेकिन दर्द के मारे दो दिन तक कहीं नहीं गई। उसके बाद से तो वो लोग मुझे अक्सर उसके रूम पर बुला कर दिन में भी चोदते हैं।लेकिन वो रात मैं कभी नहीं भूल सकती। आखिर वो था मेरा पहला गैंग-बैंग।यह मेरी पहली कहानी है इसलिए प्लीज इस पर अपने कमेन्ट जरूर करें।[emailprotected].उसकी बड़ी-बड़ी चूचियाँ मेरी आँखों के सामने झूल रही थी, मैंने अपने हाथ आगे बढ़ा कर उसकी दोनों चूचियों को थाम लिया और एक-एक करके चूसने लगा.

मामा भांजी की सेक्सी बीएफ इसके अलावा, प्रगति के स्तन उभर जाते, चूचियाँ कड़क हो जाती, आँखों की पुतली बढ़ जाती और उसकी साँसें तेज होने लगती ….

यूट्यूब चालू करना है

nikhil नाम के लड़के कैसे होते हैंहा हा हा…हवलदार- हा हा हा साब आप आगे से चेक कर लो… मेरा डंडा तो इसको पीछे से चेक कर रहा है… साली खूब मालदार है…मैं चौंक गया… इसका तो मैंने ध्यान ही नहीं दिया… हवलदार सलोनी को पकड़ने के बहाने से उसके नंगे चूतड़ों से बुरी तरह चिपका था…मुझे बहुत तेज गुस्सा आ गया- यह आप लोग कर क्या रहे हो?? आप शायद जानते नहीं हो, मैं इसकी शिकायत ऊपर तक करूँगा…इंस्पेक्टर- जा भाग यहाँ से… तू शिकायत कर.

तो इनाम के तौर पर यह तय हुआ कि सायरा खान और सोनिया कपूर में से जो हारेगा, उसे जीतने वाली की बात माननी पड़ेगी.फिर अम्बिका बोली- यश, इसकी दादी तो उसी कमरे में सो गई जिस कमरे में हमें सोना था, अब यह इसके मम्मी पापा का कमरा है और हमें रात यहीं गुजारनी पड़ेगी, पर बेड एक ही हैं इसलिए हम तीनों को उसी पर सोना पड़ेगा.

हय!मैं पहली बार चूत देख रहा था, मैंने उसकी चूत में उंगली डाल कर जोर-जोर से चलाने लगा।उसकी तो चीख ही निकल गई, उसने मुझे कहा- गिरि प्लीज़.

!तब मैं तौलिया लेकर कमरे में गया तो गुसलखाने के बाहर दरवाजे से उनका नंगा हाथ बाहर आया हुआ था। मैंने तौलिया पकड़ाया और साथ में उनके हाथ तो फिर छू कर वहीं खड़ा हो गया और उन्होंने थोड़ी देर बाद जैसे ही अपना हाथ पीछे खींचा, मैंने दरवाज़े को धक्का दिया और गुसलखाने में अन्दर घुस गया।मामी बोलीं- यह तुम क्या कर रहे हो.

और ऐसे में उनकी चूत का छेद एकदम गीला… और गांड का गुलाबी छेद… मैंने पीछे से लंड को उनके चूतड़ों पर घुमाया……और गांड के छेद पर लगाया…वो एकदम उछल कर खड़ी हो गई. आप टेन्शन क्यों लेते हो ! जाओ स्कूल, क्या पता आज क्या बात है!जीतेंद्र- बात क्या होगी, वही हमेशा का भाषण सुनना पड़ेगा.

सेक्स कैसे करें बताइए !उन्होंने मेरे हाथ को पकड़ कर अपने दूध के गोलों के ऊपर रख दिया, मैंने जैसे ही उनके गोलों को दबाया, उनकी ‘आह’ निकल गई। मैंने उनकी ब्रा को खोल दिया और उनके गोलों को चूसने लगा।उन्होंने मेरे सारे कपड़े निकाल दिए और मेरे लंड को देखने लगीं। मैंने उनकी पैन्टी उतार दी और उनकी गुफा देखकर बोला- वाह क्या गुफा है.

मामी की बड़ी गान्ड़ सारी मे

मामा भांजी की सेक्सी बीएफ: फ़िर कुछ देर बाद वो दोनों बाहर आई, जब वो बाहर आई तो मैं तो उस को देखता ही रह गया उसने काले रंग की साड़ी पहनी हुई थी बाल खुले थे, वो इतनी सैक्सी लग रही थी कि उसे देखकर ही मेरी पैंट के अन्दर तो अभी से हलचल होने लगी, दिल कर रहा था कि इसे अभी पकड़ कर चोद दूँ.साली गाली देती है मादरचोद ले आ उह उह…!तेज झटकों की बौछार आरोही की चूत और गाण्ड पर होने लगी। वो बर्दाश्त ना कर पाई और झड़ गई। वो दोनों भी झड़ गए थे। अब सुकून में आ गए थे।इधर राहुल इन लोगों की चुदाई देख कर बहुत ज़्यादा उत्तेज़ित हो गया था। उसने लौड़े पर थूक लगाया और जूही की गाण्ड में ठोक दिया। जूही को दर्द हुआ तो उसकी आँख खुल गई। तब तक राहुल झटके मारने लगा था।जूही- आ आ.