बुड्ढे के बीएफ

Image source,आदिवासी सेक्सी सेक्सी आदिवासी

तस्वीर का शीर्षक ,

એક્સ વીડીયો ફૂલ એચડી: बुड्ढे के बीएफ, फिर एक लम्बी सांस लेते हुए उसने अपने लौड़े का पानी निकाल दिया।कुछ देर हम दोनों यूँ ही बैठे रहे और फिर बाद में हम लोग अपने-अपने घर चले गए।दोस्तो, कहानी अभी बाकी है.

సెక్స్ ఫిలిం సెక్స్ ఫిలిం సెక్స్

इसका सुपारा मुँह में लेकर हल्के-हल्के से चूस कर झाड़ देती हूँ।यह कह कर तुरंत अपने चूतड़ दीदी की तरफ उठाते हुए मेरे लंड पर झुक गईं और लंड चूसने लगीं।लेकिन मैंने अपनी ऊँगली माँ की बुर से नहीं निकाली और दूसरे हाथ से बुर की पुत्तियों को फैलाते हुए और तेज़ी से अन्दर-बाहर करने लगा।तभी ये देख कर दीदी ने भी अपना कंट्रोल शायद खो दिया और झुक कर माँ के चूतड़ों को अपने हाथों से फैला कर माँ की चूतड़. नौकर और मालकिन सेक्सी वीडियोथोड़ी देर बाद मैं अपने कमरे में जाकर अपने बिस्तर पर लेट गया, उसको भी मैंने अपने बेडरूम में ही बुला लिया।मैंने उससे कहा- थोड़ा मेरे सिर में बाम लगा दोगी?तो उसने हाँ कह दिया। वो बाम लगाते-लगाते कभी अपने मम्मों को मेरे मुँह पर रख देती.

यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !मैंने उसका सूट का टॉप ऊपर कर दिया। उसने काली ब्रा पहनी हुई थी उसके मम्मों का साइज़ काफ़ी बड़ा था।उसकी फिगर 34-26-36 की थी। मैंने ब्रा के ऊपर से ही उसके मम्मों को अपने मुँह में डाल लिया।वो मस्ती में कहे जा रही थी- आह. एक्स एक्स एक्स ब्लू सेक्सी हिंदीलेकिन चंद लम्हों के बाद ही उसके होंठ अपनी बहन के होंठों तक पहुँच चुके थे। फैजान ने एक लम्हे के लिए ऊपर मेरी तरफ देखा और अगले ही लम्हे उसके होंठ अपनी बहन के होंठों पर आ गए.

मेरी फ्रेंड्स बताती हैं कि यह बुरी बात है और इससे ब्लीडिंग होती है।मैं समझ गया कि यह अभी कच्ची कली है, मैंने कहा- तुम्हारी फ्रेंडस ग़लत कहती हैं.बुड्ढे के बीएफ: पायल तुम्हारे लिए कोई जूस ऑर्डर कर दूँ?पायल- हाँ मैं तो खाने के साथ जूस ही लेती हूँ।पुनीत ने खाने के साथ ड्रिंक का ऑर्डर भी दे दिया और वो सब बातें करने लगे। इस दौरान सन्नी किसी बहाने कुछ देर के लिए उनसे अलग हुआ ताकि अपने शैतानी दिमाग़ का इस्तेमाल कर सके।थोड़ी देर बाद सब टेबल पर खाना खा रहे थे। इन तीनों ने पहले थोड़ी ड्रिंक ली उसके बाद खाना खाया।पायल तो जूस के साथ ही खाना खा रही थी.

कुछ खाने का सामन लाने गया है।सोनिया- क्या हुआ बोलो?मैं- सॉरी बोलने आया हूँ।सोनिया- किस बात का?मैं- कुछ देर पहले जो हुआ उस बात के लिए.कुछ देर हमने बात की और वो घर से चली गई लेकिन वो अपना मोबाइल वहाँ पर भूल गई।जब मैं उसे मोबाइल देने गया.

सेक्सी चाचा - बुड्ढे के बीएफ

दूसरे दिन मैं तैयार हो कर 8 बजे उसके कॉलेज के गेट पर पहुँच गया।थोड़ी देर इन्तजार करने के बाद मुझे वो आती हुई दिखाई दी।तो दोस्तो, आपको मेरी कहानी कैसी लग रही है.।अब मैं मालिश करते-करते भाभी की चूचियों को साइड में से छूने लगा।वो बोली- अमन क्या कर रहे हो?मैं- भाभी मालिश कर रहा हूँ।भाभी- तू वैसे कोरा है.

पर मेरा अभी नहीं हुआ था।मैं अब भी तेज-तेज धक्के मार रहा था। वो फिर गरम हो गई और इस तरह वो अब तक 3 बार झड़ चुकी थी।अब मैं भी चरम सीमा पर था.बुड्ढे के बीएफ इसलिए मोबाइल फोन के अलावा कुछ मनोरंजन का साधन भी नहीं है।मैंने निहारा कि वो एक स्लीवलैस सलवार कमीज़ पहने हुई थी.

तुम तो जाओगी तो कम से कम दो-तीन घंटे लगेगा।’‘तो कल तुम्हारे लिए मेरी प्रज्ञा जो है। कल इसे भी सब आसन सिखा देना.

लाइक सेक्सी?

बुड्ढे के बीएफ शर्मीला और शरीफ लड़का था।नावेद मेरे पास आया और बोला- भाभी आप यहाँ क्या कर रही हो?मैंने मुस्कुरा कर उसे देखा और बोली- बस वो हम सब भी फिल्म देखने आए हुए थे.

மசாஜ் செஸ் வீடியோ?बीपी सेक्स सेक्सी बीपी

बुड्ढे के बीएफ माँ के चूतड़ और जाँघें इतनी मुलायम थे कि मैं विश्वास नहीं कर पा रहा था।फिर मैंने अपना हाथ उनकी जाँघों के बीच डाला तो मैं हैरान रह गया।आज माँ की बुर एकदम चिकनी थी.

देवर भाभी का सेक्सी ब्लू वीडियो

मगर उसका नाम पूछ कर उससे बात करके क्या हासिल होगा हमें? हम ऐसे भी जान सकते हैं उसको?भाई- तू पागल है एकदम.कुछ देर के लिए मैं और जाहिरा इसी तरह से निढाल हालत में लेटे रहे। मेरी चूत की प्यास अभी तक नहीं बुझ पाई थी.

बुड्ढे के बीएफ पर उनके मुँह पर झड़ने की हिम्मत नहीं हुई और मैं वहाँ से हट कर उनकी गाण्ड और बुर के छेद पर लंड रख कर मुठ मारने लगा।मैं तेज़ी से मुठ मार रहा था और थोड़ी देर में माँ की गाण्ड के और बुर के छेद पर ऊपर से ही पूरा वीर्य पिचकारी की तरह छोड़ने लगा। माँ की पूरी बुर.

ইন্ডিয়ান সেক্স ভিডিও বাংলা

సెక్స్ తెలంగాణ సెక్స్वो मुझे आँख भर कर देखने लगी, फिर संभल कर आगे बढ़ी और पानी का गिलास मेरे सामने कर दिया।‘नमस्ते बड़े पापा.

तब तक माँ पेशाब कर चुकी थीं और मैं भी और दीदी के मूतने का इन्तजार करने लगे।जब दीदी मूत कर खड़ी हुईं तो हम सब कमरे में आ गए।मेरा लंड अभी भी एकदम खड़ा था।माँ पलंग पर टेक लगा कर बैठ गईं और मुझे अपने पास बैठा लिया।दीदी भी हम दोनों के सामने बैठ गई।फिर माँ मेरे सुपारे को हाथ में लेकर बोलीं- ठीक है.पर वो चाह रही थी कि मैं ज़ोर-ज़ोर से उसकी फुद्दी मारूँ।वो भी नीचे से अपनी बुंड उठाकर लंड को अन्दर तक लेना चाह रही थी।फिर उसने कहा- मुझे घोड़ी बन कर चुदवाने में बड़ा मज़ा आता है।फिर मैंने उसको घोड़ी बना कर चोदा।जब मैं उसे चोद रहा था.

मैं उसको गोद में उठा कर बाथरूम में गया।हम दोनों फ्रेश हुए और कपड़े पहन कर रेडी हो गए तो वो फिर बोली- मुझे गोद में ही ले चलो ना नीचे.

तो जाहिरा की चूचियों ने मेरी चूचियों के साथ रगड़ना शुरू कर दिया।अब हम दोनों खूबसूरत लड़कियों के जिस्म के ऊपरी हिस्से बिल्कुल नंगे हो रहे थे। जाहिरा को भी जब मज़ा आने लगा.

एक पंजाब की थी और एक बंगाल की थी, वो दोनों भी खूबसूरत थीं।मैंने उसको सामान दे दिया और तीनों से हल्की-फुल्की बातें की. कि तू मुझसे मुकाबला करे!पुनीत को बहुत ज़्यादा गुस्सा आ गया, उसने बियर की आधी बोतल एक सांस में गटक ली।पुनीत- चुप कुत्ते.

भोजपुरी सेक्सी देहाती सेक्सी वो मचले जा रही थी।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !मैंने अब उसकी नाईटी को उतारना शुरु किया.

मूवी सेक्सी चाहिए

बुड्ढे के बीएफ: बात यह थी कि मैं रात को बाहर नहीं जा सकती थी इसलिए वो संभव नहीं था।मेरी शादी को लगभग दो महीने होने वाले थे.जिसका फल उसकी कोख में था।ठीक 9 महीने बाद वह एक बेटे की माँ बन गई। उसके बाद मैंने उसे नहीं चोदा। क्योंकि अब मेरी नजर उसकी सबसे छोटी बहन पर थी जो अभी अभी जवान हुई थी।मैंने उस कली को फूल कैसे बनाया। यह कहानी भी जल्दी ही आपकी नजर करूँगा।आपको कहानी कैसी लगी.